Dark Web क्या है डार्क वेब के बारे में आप लोगों ने कभी ना कभी नाम तो सुना ही होगा आज हम Dark Web के बारे में बहुत सारे लोगों के बीच बहुत तरह भ्रांति फैली हुई है उसको दूर करने वाले हैं आज आप रियल जानेंगे डार्क वेब के मकड़जाल के बारे में जैसा कि बहुत सारे लोग Dark Web नाम तो सुना है लेकिन इसकी सच्चाई नहीं जानते हैं लेकिन आप अगर इंटरनेट चलाते हैं आपको ऐसी जानकारी जानाना चाहिए।

Dark Web क्या है

डार्क वेब वह वेब है जो कोई General Browser जैसे Crome Browser या कोई दूसरा Browser से नहीं खुलती हैं इसको access करने के लिए स्पेशल ब्राउज़र आता है डार्क वेब को अमेरिका ने 2002 में US Navy research के लिए बनाया था जिसे US मिलिट्री Defence service की अपनी खुफिया जानकारी सुरक्षित करने के लिए यूज करती थी लेकिन अमेरिका ने अपने दुश्मन देशों से खुफिया जानकारी हासिल करने के लिए सभी लोगों के लिए डार्क वेब का इस्तेमाल करने के लिए खोल दिया Dark Web सभी के लिए Use करने के लिए खुलने से बहुत सारे हैकर क्रिमिनल ड्रग तस्कर साइबर क्रिमिनल आ गए क्योंकि डार्क वेब जो भी यूज़ करता है उसका आईपी एड्रेस Trace नहीं कर पाता है और उसके लोकेशन का पता नहीं चलता है और उसके आईपी एड्रेस गुमनाम रहता है जिससे अपराधी कोई भी ग़लत काम आसानी कर लेता और इसका पता लगाना बहुत ही मुश्किल होता है Dark Web जो है वह नॉर्मल Browser से नहीं खुलता है इसके लिए आपको एक tools Tor Browser install करना होगा इसके बाद आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं

क्योंकि Internet की दुनिया में Dark Web को Cyber अपराधी का अंडरवर्ल्ड कहा जाता है और इसे इंटरनेट की काली दुनिया भी कहते हैं।

दरअसल आप इंटरनेट पर जो आप देखते हैं और सोचते हैं कि इंटरनेट बस इतना-सा ही है हम नॉर्मल इंटरनेट यूजर्स इंटरनेट पर क्रोम ब्राउजर या मोज़िला या आपकी पसंद का कोई और ब्राउज़र यूज करते हैं और जो भी वेबसाइट सर्च करना होता है यहीं पर करते हैं और जो भी काम करना होता है हम इसी ब्राउज़र पर करते हैं और यहाँ से जानकारी लेते हैं लेकिन General Browser पर जो हम सर्च करते हैं वह इंटरनेट का सिर्फ़ 5 परसेंट भाग है जो हमें दिखाई देती है और उसे सरफेस वेब कहते हैं और जो इंटरनेट का 95 परसेंट भाग होता है उसे Deep Web कहते हैं।

Deep Web क्या है?

Deep Web क्या है

 

Deep Web में हमारा वह डाटा रहता है जो हम सरफेस वेव में कोई वेबसाइट पर Debit card या Credit Card का डिटेल भरते हैं ऑनलाइन खरीदारी करते समय तो हमरा Credit Card का डिटेल Deep Web मैं ही रहता है और बहुत सारी सरकार की खुफिया एजेंसियों की वेबसाइट Deep Web में रहती है जिससे कोई दूसरा आदमी नहीं खोल सकता है

डार्क वेब कैसे काम करता है

डार्क वेब में जो भी वेबसाइट है सभी website .Onion Domain वाला होता है दरअसल इसका .Onion इसलिए नाम रखा गया क्योंकि जिस तरह से प्याज में कई लेयर होते हैं उसी तरह Dark Web में भी बहुत सारे लेयर होते हैं और इसमें जो डाटा होता है वह कई VPN से होकर गुजरता है जिससे डाटा कहाँ से आ रहा है और कहाँ जा रहा है इसका पता लगाना बहुत ही मुश्किल होता है और इसमें डाटा बहुत ही intrapted form में आता हूँ जिसे पता लगाना मुश्किल काम है आप इसमें कोई भी वेबसाइट पर कोई भी काम करते हैं तो यहाँ पर आपके आईपी ऐड्रेस को गुमनाम रखा जाता है और जो भी वेबसाइट है उसका भी पता गुमनाम रहता है आप जो भी कोई चीज सर्च करते हैं आपका लोकेशन ट्रेस नहीं होता है

यह भी पढ़ें;- VPN क्या है  VPN Mobile और Computer से कैसे कनेक्ट करें

Dark Web यूज़ करना कितना खतरनाक है

देखिए कोई भी चीज के दो पहलू होते हैं एक सही और दूसरा ग़लत उसी तरह से Dark Web में कुछ सही है और कुछ ग़लत भी हैं और यह आपपे डिपेंड करता है कि आप इसे कैसे यूज करते हैं Dark Web में कई सारे साइंटिफिक रिसर्च पेपर है जो कि एकदम सीक्रेट है वह भी आपको पढ़ने को मिलेगी और आपको यहाँ पर बड़ी कंपनी की वेबसाइट भी मिलेगी।

लेकिन डार्क वेब में बहुत सारी गोरख धंधा भी होते हैं जैसा कि आपको यहाँ पर बड़े-बड़े क्रिमिनल, ड्रग तस्कर साइबर अपराधी वे वेबसाइट जो सरकार के द्वारा Ban कर दी गई हो आपको यहाँ पर देखने को मिल जाएगी आपको यहाँ अवैध हथियार की तस्करी करने वाले मिलेगा यहाँ पर कांटेक्ट किलर मिलता है आपको यहाँ पर US, UK जैसे देशों के हैक करके बनाया गया Passport मिलेगा कई स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटी Degree Hacker के द्वारा website को हेक करके बनाया गया सर्टिफिकेट आपको यहाँ पर मिलेगा और यहाँ पर जितने भी पैसों का लेनदेन होता है वे सभी वर्चुअल करेंसी Bitcoins में होता है जिससे अपराधी को आसानी से पकड़ना आसान नहीं होता है

अभी कुछ साल पहले 2013 में अमेरिका ने Silk Road नाम की वेबसाइट जो Dark Web में थी उसको बैन कर दिया क्योंकि इस वेबसाइट में हैकर द्वारा लोगों की क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड की जानकारी बेची जा रही थी

आप सोच रहे होंगे इतना illegal धंधा होने के बाद भी इसे सरकारी क्यों नहीं बैन करती है और हमारे भारत में भी बैन नहीं है क्योंकि अभिव्यक्ति की आजादी के कारण और Dark Web में बहुत सारी अच्छी चीज भी आपको देखने को मिलेंगे जैसे बहुत सारे कंपनी के रिसर्च पेपर  सीक्रेट जानकारियाँ इसमें रहती है।

लेकिन आपको अगर Dark Wave के बारे में कुछ नहीं मालूम है तो आप भूल कर के भी Dark Web Use नहीं करना चाहिए क्योंकि यहाँ पर आपके निजी डेटा को हैक कर सकते हैं आपको अगर Dark Web के बारे में कुछ नहीं मालूम है और कोई ऐसी वेबसाइट पर चले जाएंगे और उस वेबसाइट को कोई Hacker खोल कर बैठा है और आपकी सारी निजी Data हैक कर सकता है और आप कोई बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं Dark Web में कोई भी ग़लत काम illegal है और आप Police चक्कर में भी फस सकते हैं

मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट Dark Web क्या है पसंद आयी होगी और आपको Dark Web के बारे में कुछ जानने को मिला होगा इसलिए आपसे एक रिक्वेस्ट है कि आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे फ़ेसबुक व्हाट्सएप में ज़रूर शेयर करें धन्यवाद।

यह भी पढ़ें;- VPN क्या है  VPN Mobile और Computer से कैसे कनेक्ट करें

Spread the love