Robotics क्या है और Robotics engineer कैसे बनें

Robotics engineer कैसे बनें:- दुनिया भर में रोज़ नए-नए टेक्नोलॉजी विकसित हो रही है उसी में से एक रोबोटिक्स इंजीनियरिंग का क्षेत्र है जो तेजी से उभर रहा है और आज के समय रोबोट्स का डिमांड हर एक फील्ड मेंं बढ़ती जा रही है जिससे निश्चित लगता है कि आने वाले समय में रोबोटिक्स इंजीनियरों की डिमांड और बढ़ने वाली है।

इसलिए जो स्टूडेंट्स रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के फील्ड में अपना करियर बनाने की चाहत रखते हैं उसके लिए इस क्षेत्र में-में रोजगार की अनेक प्रबल संभावनाएँ हैं।

आज के इस लेख में आपको रोबोटिक्स क्या है और Robotics engineer कैसे बनें इन सभी सवालों का जवाब इस लेख में विस्तार पूर्वक देने वाले हैं इसलिए इस लेख को अंतर पढ़ते रहिए।

Robot क्या है (what is robot in Hindi)

रोबोट एक तरह की मशीन है जो ऑटोमेकली कार्य करती हैं और जो भी कमांड हम कंप्यूटर प्रोग्राम के जरिए हम इसमें देते हैं उसे यह विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस के साथ आपस में कंबीनेशन बनाकर काम करती है।

रोबोट्स का उपयोग आज तो बहुत सारे क्षेत्र में हो रहा है लेकिन इसका उपयोग खतरनाक क्षेत्र में भी किया जा रहा है जहाँ मनुष्य को नुक़सान हो सकता है जैसे न्यूक्लियर reactor क्षेत्र में, बम का पता लगाने और उसे डिफ्यूज करने में, अंतरिक्ष में, पानी के नीचे, उच्च गर्मी में, खतरनाक पदार्थ के विकरण की रोकथाम में, कचरा उठाने में रोबोट का यूज किया जा रहा है।

Robotics क्या है (what is Robotics in Hindi)

रोबोटिक्स एक विज्ञान शाखा है जिसमें हम रोबोट का डिजाइन करना, मैन्युफैक्चरिंग करना और उसको सही तरीके से संचालन करना सीखते हैं इसमें कंट्रोल सिस्टम, पावर सप्लाई, मैनिपुलेटर्स इत्यादि चीज होती है।

Robotics engineer कैसे बनें

Robotics engineer के फील्ड में ऐसे स्टूडेंट्स को आना चाहिए जिसके अंदर एक अच्छी मैरिट हो और कुछ अलग हटकर सोचने और करने की क्षमता हो क्योंकि रोबोटिक्स इंजीनियरिंग बहुत हाई प्रोफेशनल कोर्स है जो सभी स्टूडेंट के लिए संभव नहीं है।

रोबोटिक्स इंजीनियर बनने के लिए उम्मीदवार को 12th में PCM (Physics, Chemistry और Maths) ग्रुप से 60% मार्क्स से पास होना ज़रूरी है।

उसके बाद उसे इंजीनियरिंग एंट्रेंस परीक्षा जेईई-मेन और एडवांस पास करनी पड़ेगी जिसके बाद वह डायरेक्ट 4 वर्षीय बैचलर ऑफ रोबोटिक्स इंजीनियरिंग के कोर्स में दाखिला ले सकता है

या वह मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में भी बीटेक करने के बाद रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में M. Tech करके रोबोटिक्स इंजीनियर बन सकता है।

Robotics engineering college in India

1.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की

2.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई

3.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद

4.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली

5.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर

6.भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर

7. मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी

8. उस्मानिया यूनिवर्सिटी हैदराबाद

9. बिट्स पिलानी

10. एसआरएम यूनिवर्सिटी

Scope of robotics engineering in India

रोबोट का भारत में प्राइवेट industries में बहुत ही-ही यूज हो रहा है इसमें Robotics technician robotics testing और quality control engineer की ज़रूरत होती है यहाँ भी Robotics engineer के लिए रोजगार का अवसर है।

रोबोट बनाने वाली कंपनी में रोबोट की डिजाइन, प्रोग्रामिंग और रोबोट की मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए रोबोटिक्स इंजीनियर की ज़रूरत होती है इसमें भी robotics engineer course करने स्टूडेंट्स जॉब पा सकते हैं।

Robotics engineering में कोर्स करने वाले छात्रों को स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन जैसी संस्थान ISRO में बेहतरीन जॉब मिल सकती है।

मल्टीनेशनल कंपनी में प्रोफेशनल रोबोटिक्स इंजीनियर की बहाली की जाती हैं जिसे बहुत ज्यादा वेतन और सभी तरह की सुविधा दी जाती है।

Robotics engineer salary in India

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग सैलेरी शुरुआत में 50 हज़ार से लेकर 1 लाख तक प्रति महीना है लेकिन आपका जैसे-जैसे एक्सपीरियंस बढ़ता जाएगा आपकी सैलरी तीन से चार लाख प्रति महीना हो जाएगी।

Conclusion:-

मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट Robotics engineer कैसे बनें पसंद आया होगा और यह लेख आपके कैरियर के लिए लाभदायक होगा

इसलिए आप से गुजारिश है कि आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया फेसबुक व्हाट्सएप पर शेयर जरूर करें धन्यवाद।

Leave a Comment