Signal app क्या है

Signal app क्या है– जब से व्हाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है कि व्हाट्सएप अब आपकी डाटा को व्हाट्सएप के सहायक कंपनियों फ़ेसबुक इंस्टाग्राम आदि के साथ शेयर करेंगी तब से बहुत सारे व्हाट्सएप यूजर व्हाट्सएप के इस नई प्राइवेसी पॉलिसी से नाराज होकर व्हाट्सएप को अनइनस्टॉल कर के Signal app को डाउनलोड कर रहे हैं।

भारत समेत कई देशों में गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर पर Signal app टॉप ट्रेंडिंग में चल रहा है और कुछ ही दिन में इस ऐप को लाखों लोग डाउनलोड कर चुके हैं इसलिए आज आपको बताएंगे कि Signal app क्या है और Signal app व्हाट्सएप से किस तरह बेहतर है इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ते रहिए।

Signal app क्या है

Signal app का पूरा नाम सिगनल प्राइवेट मैसेंजर है सिग्नल एफ व्हाट्सएप की तरह एक संदेश वाहक एप है इसमें भी आप एक दूसरे से टेक्स्ट, फाइल्स, फोटो, ऑडियो और वीडियो भेज सकते हैं।

Signal app की खासियत यह है कि आपकी सभी तरह की चैट टेक्स्ट वॉइस ऑडियो और वीडियो को इंक्रिप्टेड फॉर्म में रहता है जिससे आपकी किसी भी मैसेज को कोई भी नहीं पढ़ सकता है यह ऐप का उपयोग एक से एक और ग्रुप में वॉइस कॉल और वीडियो कॉल करने में भी किया जाता है।

Signal app डाउनलोड कैसे करें

इस ऐप को आप गूगल प्ले स्टोर, एप्पल स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं Signal app android, ios और विंडोज में भी सपोर्ट करता है।

Signal app में अकाउंट क्रिएट कैसे करें

  • सबसे पहले आपको मोबाइल में सिगनल ऐप को ओपन करना है उसके बाद आपको सिगनल एप पर क्लिक करना है.
  • Signal app पर क्लिक करने के बाद आपके सामने टर्म एंड प्राइवेसी पॉलिसी लिखा आएगा उसे आप पढ़ सकते हैं या फिर आपको कंटिन्यू टाइप करना है.
  • उसके बाद सिग्नल एप आपसे आपके मोबाइल का कांटेक्ट मीडिया इत्यादि का एक्सेस मांगेगा सभी को एलाऊ कर देना है.
  • जिस नंबर पर आप अपना आईडी बनाना चाहते हैं वह नंबर आपको इंटर करने के बाद नेक्स्ट पर क्लिक करना है.
  • जो नंबर आपने इंटर किया है उस पर एक ओटीपी जाएगा उस ओटीपी नंबर को डाल कर आपको वेरिफिकेशन करना है.
  • अब आप यहाँ से अपनी प्रोफाइल फोटो नाम सेट करें उसके बाद नेक्स्ट पर क्लिक करना है.
  • पिन क्रिएट करना है जो कि आपका पासवर्ड होगा अब आपका सिगनल एप में अकाउंट क्रिएट हो चुका है।

Signal app किस तरह यूज करें

  • सबसे पहले आपके सामने स्क्रीन पर आएगा use as default s.m.s. app आप इसे चाहे तो डिफॉल्ट s.m.s. बना सकते हैं जिससे आपके मोबाइल के सभी मैसेज सिग्नल में ही शो होगा या आप इसको डिसएबल कर सकते हैं.
  • अगर आपको किसी के साथ चैट करना है तो आपको पेंसिल आइकन पर क्लिक करना है और आपको यहाँ पर वह व्यक्ति मिल जाएगा जो आपके मोबाइल कांटेक्ट में सिग्नल ऐप यूज कर रहा है.
  • चैट अब आप जिससे से करना चाहते हैं उस कांटेक्ट नंबर पर क्लिक करके चैट शुरू कर सकते हैं.
  • आप इसमें चैट के अलावा ऑडियो और वीडियो कॉल भी कर सकते हैं.
  • डिसअपीयरिंग मैसेज को ऑन करने के बाद आप जो टाइम सिलेक्ट करते हैं उतने टाइम के बाद जो मैसेज आप सेंड किए हैं वह ऑटोमेटिक डिलीट हो जाएगा.
  • आप इसमें अगर कोई ग्रुप बनाना चाहते हैं तो आप न्यू ग्रुप में क्लिक करके ग्रुप बना सकते हैं और जिसे ग्रुप में ऐड करना चाहते हैं उसे ऐड करके ग्रुप बना सकते हैं.
  • सेटिंग में आप जाकर अकाउंट प्राइवेसी और भी बहुत कुछ आप सेटिंग कर सकते हैं.

Signal app का स्पेशल फीचर क्या है

  1. बैकअप को सुरक्षित रखना यह आपके मैसेज को बैकअप के लिए गूगल ड्राइव में नहीं रखता है जहाँ पर आपके डाटा को गूगल पड़ सकता है बैकअप के लिए आप इस ऐप में अपने मोबाइल के एक्सटर्नल स्टोरेज के किसी फोल्डर में अपने बैकअप रख सकते हैं.
  2. इसमें सब कुछ इंक्रिप्टेड है सिग्नल ऐप आपकी सभी चीज को इंक्रिप्टेड कर देता है आपकी चैटिंग प्रोफाइल फोटो ऑडियो वीडियो कॉल्स लोकेशन सभी इंक्रिप्टेड है मतलब सभी चीज को कोड में कन्वर्ट कर देता है जिससे आपकी मैसेज को कोई तीसरा आदमी नहीं पढ़ सकता है.
  3. डाटा लिंक टू यू फीचर को ऑन करने के बाद आपके द्वारा कोई भी चैट मैसेज का कोई स्क्रीनशॉट नहीं ले पाएगा.
  4. रिले कॉल फीचर ऑन करने के बाद आप जिसे कॉल करेंगे उसको आपका आईपी एड्रेस का पता नहीं चलेगा लेकिन इससे आपकी ऑडियो क्वालिटी कम हो सकती है.
  5. सिग्नल पिन आप सिक्योरिटी के लिए पिन जनरेट कर सकते हैं जिससे कि कोई दूसरा आपके अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पाए.
  6. आप व्हाट्सएप में देखते होंगे कि अगर आपका व्हाट्सएप नंबर है तो आपको कोई भी आपके बिना परमिशन के कोई भी ग्रुप में ऐड कर देता है लेकिन सिग्नल ऐप में जब कोई किसी को ग्रुप में ऐड करेगा तो सबसे पहले उसके पास ग्रुप का नोटिफिकेशन जाएगा उसके द्वारा ग्रुप का नोटिफिकेशन को एक्सेप्ट करने के बाद ही कोई ग्रुप में ऐड कर पाएगा।

Signal app का प्राइवेसी पॉलिसी क्या है

  • Signal app आपकी कभी भी कोई सेंसेटिव इनफॉरमेशन कलेक्ट नहीं करती है यह आपकी डाटा को किसी भी थर्ड पार्टी कंपनी के साथ शेयर नहीं करती हैं.
  • इस ऐप पर आपकी सभी तरह की चैट इन टू एंड इंक्रिप्टेड प्राइवेट और सिक्योर है.
  • इस एप पर अकाउंट क्रिएट करने के लिए मिनिमम एज 13 वर्ष होनी चाहिए।

Signal app व्हाट्सएप से किस तरह बेहतर है

व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी जब से अपडेट हुआ है उसके अनुसार अब व्हाट्सएप आपकी डाटा को व्हाट्सएप की सहायक कंपनियों के साथ शेयर करेंगी.

लेकिन सिग्नल एप आपकी किसी भी तरह की इंफॉर्मेशन को कभी भी किसी थर्ड पार्टी कंपनी के साथ नहीं शेयर करेंगी इसलिए लोग अपनी प्राइवेसी के चलते व्हाट्सएप को छोड़कर सिगनल एप की तरफ़ जा रहे हैं।

Signal app का मालिक कौन है

Signal Messenger app को सिग्नल फाउंडेशन और सिग्नल मैसेंजर के द्वारा बनाया गया था यह एक नॉन प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन की तरह काम करती है यह एप दान से चलता है इस ऐप को एक अमरीकी क्रिप्टोग्राफर मोक्सी मार्लिंस्पाइक ने बनाया था और और अभी यही सिगनल एप का सीईओ है .

बाद में सिगनल एप को Brian Acton ने व्हाट्सएप की नौकरी को छोड़ करके 50 मिलियन डॉलर इन्वेस्ट करके सिगनल एप को  develop किया।

मुझे उम्मीद है आपको यह लेख Signal app क्या है पसंद आया होगा और Signal app के बारे में पूरी जानकारी आपको मिल गई होगी इसलिए आपसे एक गुजारिश है कि आप इस लेख को अपने दोस्तों और फैमिली के साथ ज़रूर शेयर करें धन्यवाद।

यह भी पढ़ें;-

5G क्या है और 5G टेक्नोलॉजी कैसे काम करता है

Leave a Comment